Groovys News

First.Fast.Accurate

चीन नेबिया पर लगाया 2.78 अरब डॉलर का जुर्माना, पिछले साल शुरू की थी कंपनी के खिलाफ जांच

शंघाई: चीन के डिजाइनर्स ने ई-कॉमर्स की दिग्गज कंपनी आईबी पर 18.2 बिलियन डॉलर (2.78 बिलियन डॉलर) का दबाव लगाया है। कंपनी पर यह जुर्माना मार्केट पोजिशन का दुरुपयोग करने के आरोप मे लगाया गया है। न्यूज एजेंसी सिन्हुआ ने कहा कि मार्केट रेगुलेशनिबा ने दिसंबर में आइबा की जांच शुरू होने के बाद जुर्माने का आकलन किया था।

चीन के प्रोग्रामिंग निर्माताओं के मुताबिक़आओ ने एक देयता विरोधी कानूनों का उल्लंघन किया है। इसके साथ ही मार्केट में अपनी पोजिशन का भी दुरुपयोग किया। सिन्हुआ ने कहा कि आतंकवादियों ने अली की 2019 में हुई 459.7 बिलियन डॉलर बिक्री के चार प्रतिशत के बराबर अंगों को लगाया है, जो लगभग 2.78 बिलियन डॉलर है।

अंडर में चीनी टेक कंपनियां हैं
आइब और दूसरी मुख्य चीनी टेक कंपनियों के उनके प्रभाव को लेकर बढ़ती चिंता के बीच दबाव में आ गए हैं। ये प्लेटफॉर्म का उपयोग कस्टमर्स खरीदारी करने, बिलों का भुगतान करने, टैक्सी बुक करने, लोन लेने और दूसरे डेली टास्क के साथ करते हैं। तब तक जांच के दायरे में आ गया जब सह-संस्थापक जैक मा ने चीनी व्यापारियों की आलोचना की। Ib के एंट ग्रुप के लोन, वेल्थ मैनेजमेंट और बीमा में बढ़ते प्रभाव को लेकर चीनी व्यापारियों ने कई बार चिंता व्यक्त की थी।

रेगुलेटर्स की आलोचना के बाद जैक मा की कंपनियों के खिलाफ कार्रवाई
जैक मा की दिक्कतें तब शुरू हुईं, जब उन्होंने 24 अक्टूबर 2020 को सार्वजनिक मंच से चीन के रेगुलेटरी सिस्टम के कथित पक्षपात की कड़ी आलोचना की थी। उन्होंने चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग पर भी सवाल उठाए थे। जैक मा की इस सार्वजनिक आलोचना को चीन के राज्य डोमिनेट वित्तीय क्षेत्र के लिए एक चुनौती के रूप में देखा गया। इसके बाद एंट ग्रुप का 37 अरब डॉलर का आईपीओ टल गया था।

%d bloggers like this: